भारत ने पाकिस्तान पर क्यों किया था ब्रह्मोस मिसाइल से हमला?

प्यारे दोस्तो आज के इस पोस्ट में हम आपको ( भारत ने पाकिस्तान पर क्यों किया था ब्रह्मोस मिसाइल से हमला? ) के बारे में बताने वाले हैं।
जैसा कि आप सभी जानते हैं कि भारत और पाकिस्तान का संबंध शुरू से ही अच्छे नहीं रहे हैं, इन दोनों देशों के मध्य अनेकों युद्ध हो चुके हैं जिसमें 1971 जैसे युद्ध गवाह है,और आज भी दोनों देशों के बीच आपसी तनाव बना रहता है। आखिर क्यों भारत द्वारा 9 मार्च 2022 को पाकिस्तान पर ब्रह्मोस मिसाइल द्वारा हमला किया गया? आइए विस्तार से जानते हैं।

जैसे कि आपको पता ही होगा कि इन दिनों यूक्रेन और रूस के मध्य युद्ध के मामले चल रहे हैं जिसमें अनेक जान-माल क्षतिग्रस्त हो रहे हैं। इस यूक्रेन युद्ध मामले के चलते भारत पर अंतरराष्ट्रीय दबाव बनता जा रहा था कि भारत इन सब के बीच किस देश का साथ देने वाले हैं परंतु यदि भारत किसी एक देश का साथ देता तो अन्य देश से भारत के संबंध खराब हो सकते थे, इस वजह से माननीय प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में एक नीति अपनाई गई जिसके तहत भारत ने यह सोचा कि यदि हम दूसरे अन्य अंतरराष्ट्रीय मुद्दों में फंसे रहेंगे तो हमें किसी अन्य देश का साथ देने के लिए मजबूर नहीं होना पड़ेगा, क्योंकि भारत नहीं चाहता था कि वह किसी अन्य देश का युद्ध मामले में साथ दे।

तो इस नीति के तहत भारत खुद जानबूझकर पाकिस्तान में ब्रह्मोस मिसाइल हमला करके अंतरराष्ट्रीय मामलों में उलझ गया ताकि भारत यह कह सके कि वह खुद अंतरराष्ट्रीय मामलों में फंसा हुआ है, हम किसी का साथ कैसे दें।

इस तरह किसी अन्य देश से भारत के संबंध भी खराब नहीं होता। क्या होता है कि जब कोई देश किसी अन्य मामलों में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फंसा होता है तो किसी अन्य देश का साथ देने के लिए उस देश पर कोई पाबंदी नहीं होती, यही कारण था कि भारत ने जानबूझकर पाकिस्तान पर ब्राह्मोस मिसाइल हमला करवाया और पाकिस्तान से यह कह दिया कि यह मिसाइल गलती से पाकिस्तान में गिर गया परंतु पाकिस्तान वालों ने इस मामले को अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बनाकर एक तरह से भारत का ही मदद कर दिया।

चूंकि भारत का कहना था कि ब्रह्मोस मिसाइल गलती से पाकिस्तान पर गिर गया है और गलती से इस प्रकार के मामले हो तो, इसके लिए 21 फरवरी 1999 को अटल बिहारी वाजपेई व नवाज शरीफ के मध्य लोहार में एक समझौता हुआ था कि इस प्रकार के मामलों को सुलझाने के लिए दोनों देश आपस में हॉट लाइन के जरिए बात करके आपस में समझौता कर सकते हैं, परंतु पाकिस्तान इस बात को अंतरराष्ट्रीय मुद्दे UNO तक ले जाना चाहता था, पाकिस्तान को यह पता नहीं था कि भारत यही तो चाहता था ताकि वे अपने नीति में कामयाब हो सके और अंत में हुआ भी यही। यही कारण था कि भारत ने पाकिस्तान पर जानबूझकर ब्रह्मोस मिसाइल हमला किया था।

Read Also

OSD full form क्या है? OSD meaning in hindi, काम, सैलरी, पूरा निचोड़ 2022

S 400 Missile Defense System kaise kaam karta hai । S-400 in hindi

Kitne deshon ke paas parmanu bam hai – Nuclear Bomb Countries

क्या था हमले के पीछे भारत का उद्देश्य?

भारत का उद्देश्य पाकिस्तान से युद्ध करना नहीं था। भारत का उद्देश्य थोड़ा बहुत बवाल करके अंतरराष्ट्रीय मुद्दा खड़ा करना था।भारत चाहता था कि पाकिस्तान के मिया-चान्नू नामक जगह में जहां कोई आबादी नहीं बस्ती थी उस जगह ब्रह्मोस मिसाइल गिरा कर अंतरराष्ट्रीय मुद्दा लाना जिससे कि भारत अपने नीति में कामयाब हो सके।

ने पाकिस्तान पर क्यों किया था ब्रह्मोस मिसाइल से हमला 1

ब्रह्मोस मिसाइल पाकिस्तान पर कैसे गिरा?

ब्रह्मोस मिसाइल को हरियाणा से लांच किया था जोकि पंजाब, हरियाणा बॉर्डर होते हुए पाकिस्तान के मिया-चान्नू नामक जगह पर 9 मार्च को जाकर गिरा। क्योंकि इस जगह किसी का घर, मकान नहीं था जिसकी वजह से जानमाल का नुकसान नहीं हुआ परंतु वहां अंडर कंस्ट्रक्शन का काम चालू था जिससे छोटा-मोटा नुकसान हुआ। यह ब्रह्मोस मिसाइल पाकिस्तान में लगभग 124 किलोमीटर अंदर घुस चुका था। इस मिसाइल का रेंज 290 किलोमीटर था।

ब्रह्मोस मिसाइल के गिरने के बाद पाकिस्तान के ISPR(inter service public relation) ऑफिसर का स्टेटमेंट था कि “हमारे टेरिटरी में एक unidentified मिसाइल घुस गया है जो 4 मिनट तक उड़ता रहा और फिर भूमि में गिर गया हमने इसे radar पर track किया था”। पाकिस्तान को पता होते हुए भी ब्रह्मोस मिसाइल का कुछ नहीं बिगाड़ पाए इससे यह पता चलता है कि उनके पास उच्च स्तरीय टेक्नोलॉजी नहीं है।

ब्रह्मोस मिसाइल हमला का परिणाम?

इस हमला के पश्चात भारत को किसी अन्य देश का युद्ध मामलों में साथ नहीं देना पड़ेगा क्योंकि यह एक अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बन गया है। भारत के ब्रह्मोस मिसाइल का मांग अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ने लगा और फिलीपींस, वियतनाम, इंडोनेशिया जैसे देशों ने इस मिसाइल का आर्डर देने लगे। हालांकि पाकिस्तान के पास चाइना का डिफेंस सिस्टम HQ9 था परंतु वह भी किसी काम नहीं आया जिससे चाइना के HQ9 डिफेंस सिस्टम का मार्केट में वैल्यू भी गिर गया और चाइना का भारी नुकसान हुआ, क्योंकि जहां-जहां से HQ9 डिफेंस सिस्टम का आर्डर लिया गया था सभी ने उसे रद्द कर दिए थे।

अन्य मुद्दे??

अब पाकिस्तान मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने के लिए यह अफवाह फैला रहा था कि वह ब्रह्मोस मिसाइल, जो मिया चान्नू में नष्ट हो गया था, उसका रिवर्स इंजन बनाएंगे। पाकिस्तान जताना चाहता था कि वह भी ब्रह्मोस मिसाइल बना सकता हैं, जबकि यह पाकिस्तान के लिए मुमकिन नहीं हैं।

आशा करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी (भारत ने पाकिस्तान पर क्यों किया था ब्रह्मोस मिसाइल से हमला?)आपको पसंद आए। धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published.