Deep Fake Video Technology क्या हैं? कैसे बनते हैं ?

  

Deep Fake Video Technology क्या हैं? कैसे बनते हैं? पूरी

 जानकारी | FakeApp | DeepFaceLab |

आपने VFX, CGI के बारे में तो जरूर सुना होगा | आज कंप्यूटर VFX और CGI के जरिए पूरी फिल्म की सीन बनाई जा सकती है | आज Hollywood, Bollywood  आदि की सभी फिल्मों में सीजीआई और VFX का भारी-भरकम उपयोग देखने को मिलता है |

VFX और CGI के उपयोग से फिल्मों में हर वो काम किया जा सकता है जो रियल में कभी नहीं हो सकता | बड़े-बड़े घर, बिल्डिंग्स आदि CGI से बनाए जाते हैं | कंप्यूटर VFX, Chroma Key (ग्रीन स्क्रीन) के माध्यम से वीडियो में पूरा का पूरा बैकग्राउंड सीन ही बदल दिया जाता है |
Deep Fake विडियो क्या हैं कैसे बनते हैं FakeApp DeepFaceLab
आज हम आपको इसी से जुड़े एक टॉपिक Deep Fake के बारे में बताने जा रहे हैं | Deep Fake क्या होता है? यह कैसे बनाया जाता है? इस से क्या फायदे और क्या नुकसान हो सकते हैं?

Deep Fake क्या है?

Deep Fake वीडियो में कंप्यूटर AI (आर्टिफ़िश्यल इंटेलिजेंस) की मदद से किसी वीडियो में मुख्य किरदार के बदले किसी और व्यक्ति का चेहरा लगा दिया जाता है | उदाहरण के लिए नीचे फोटो में Tony Stark (Robert Downy) की वीडियो है |यह विडियो Tony Stark की नहीं हैं बल्कि किसी और व्यक्ति की है | लेकिन इसे Computer AI और DeepFake Software की मदद से Tony Stark का चेहरा लगा दिया गया हैं |
इस विडियो को देखकर ऐसा लगता हैं कि विडियो Original हैं लेकिन इसके पीछे कि सच्चाई कुछ और हैं | लेकिन Computer AI से इसे इस तरह से बनाया गया हैं कि ये video ऐसी लग रही हैं कि स्वयं Robert Downey का ही विडियो शूट किया गया हैं |
इस तरह आप Youtube और Social Media आदि में कई सारे DeepFake Video देख सकते हैं | जो कि Fake Video हैं लेकिन आपको ये Orinigal जैसे ही लगेंगी |
DeepFake वीडियो और ओरिजिनल वीडियो अगर आप देखेंगे तो आपको दोनों में फर्क ही नजर नहीं आएगा इसमें ओरिजिनल वीडियो में जो किरदार है उसकी जगह किसी और व्यक्ति का चेहरा लगा है यह पहचानना बहुत ही मुश्किल हो जाता है |
अर्थात DeepFake वीडियो में किसी के चेहरे को हटाकर किसी दूसरे के चेहरे पर लगाया जाता है इसके लिए बहुत से सॉफ्टवेयर मिल जाते हैं आजकल Deep Fake वीडियो अब आप अपने एंड्रॉयड फोन से भी बना सकते है |

डीप फैक वीडियो बनाने के लिए सॉफ्टवेयर

वैसे तो Deep Fake वीडियो बनाने के लिए कई सॉफ्टवेयर मिल जाते हैं लेकिन इसमें से Deep Fake 2.0 और DeepFaceLab 2.0 काफी पॉपुलर सॉफ्टवेयर है | यह दोनों ही सॉफ्टवेयर फ्री में मिल जाते हैं और चलाने में बहुत ही आसान है |

Deep Fake बनाने के लिए क्या जरूरी है

Deep Fake वीडियो बनाने के लिए सबसे पहले आपके पास एक अच्छा सा एडिटिंग पीसी होना चाहिए | इसके साथ ही Deep Fake वीडियो को अच्छे से और जल्दी रेंडर करने के लिए एक अच्छा सा ग्राफिक कार्ड होना चाहिए |आपके कंप्यूटर में जितनी ज्यादा हो सके RAM होनी चाहिए |
Minimum
Nvidia GPU with at least 2 GB of RAM
i3 or AMD 9 processor
8 GB of RAM
20 GB of free hard drive space

सॉफ्टवेयर कैसे काम करता हैं

Deep Fake सॉफ्टवेयर में दो वीडियो होती है पहली वीडियो होती है सोर्स वीडियो और दूसरी वीडियो होती है डेस्टिनेशन वीडियो और उसके बाद इन दोनों वीडियो से फाइनल वीडियो बनती है जो कि Deep Fake वीडियो होती है |
सोर्स वीडियो से आदमी का चेहरा निकाला जाता है और डेस्टिनेशन वीडियो में जो कैरेक्टर है उस पर वह चेहरा Swap किया जाता है, इसे मैनुअली करने की जरूरत नहीं पड़ती यह Software सब कम खुद ब खुद कर लेता है |इसमें Frame by Frame करैक्टर के एक्सप्रेशन, हाव भाव,  Lip Sink आदि पर प्रोसेस होता है | और फाइनल रिजल्ट इतना ज्यादा रियल जैसा होता है की की इसमें फर्क निकालना बहुत ही कठिन होता है | फाइनल वीडियो बिल्कुल रियल वीडियो की तरह ही होती है बस उसमें चेहरा किसी और का लगा होते हैं |

फायदे

Deep Fake वीडियो के फायदे फिल्मों के लिए है | जब बड़ी बड़ी फिल्में बनाई जाती है, तब उसमें कई सीन ऐसे होते हैं जोकि एक्टर द्वारा ना हो करके, स्टंटमैन द्वारा किए जाते हैं | इसमें इस टेक्नोलॉजी की मदद से उस स्टंटमैन का चेहरा हटाकर एक्टर का चेहरा डाल कर दिखाया जा सकता है | Deep Fake का यूज़ फिल्मी दुनिया में बहुत अधिक किया जाता हैं |
 

Deep Fake वीडियो के नुकसान क्या हैं?

Deep Fake के फायदों से ज्यादा नुकसान ही है आपने यूट्यूब और सोशल मीडिया पर बहुत सारे सेलिब्रिटी के Deep Fake वीडियो देखे होंगे | वे सारे वीडियो फेक होते हैं लेकिन उनको देखकर ऐसा बिल्कुल भी नहीं लगता कि वह वीडियो फेक है बल्कि ऐसा लगता है कि वह वीडियो बिल्कुल असली हैं |
वीडियो के नुकसान में से ठीक है पॉलीटिकल राजनेता केडी सेट वीडियो
कई बार ऐसे केश सामने आए हैं जिसमें कोई व्यक्ति गलत भाषण देता है और उसमें Deep Fake की मदद से किसी राजनेता का चेहरा लगा दिया जाता है | इससे से राजनीतिक गलतफहमी और गतिरोध बढ़ जाता है | 

Leave a Reply

Your email address will not be published.